चॉकलेट वाला मंदिर | मंदिर जहाँ चढ़ता है चॉकलेट

0
229
चॉकलेट वाला मंदिर | मंदिर जहा चढ़ता है चॉकलेट
चॉकलेट वाला मंदिर | मंदिर जहा चढ़ता है चॉकलेट

चॉकलेट वाला मंदिर | मंदिर जहाँ चढ़ता है चॉकलेट

मीठे का नाम सुनते ही मुँह में पानी आ जाता है , पर अगर वो मीठा चॉकलेट हुआ तो…
अगर आपको पता चले की मंदिर में प्रसाद के रूप में चॉकलेट्स मिल रहे हैं ( then what will be your रिएक्शन).
जी हाँ… आप सबसे पहले यही कहेंगे..चॉकलेट्स और वो भी प्रसाद में ….ऐसा कौन सा मंदिर है भाई ?
तो चलिए बिना देरी किये बढ़ते हैं इस इंटरेस्टिंग स्टोरी की और पर उससे पहले अगर आपने अभी तक चैनल को सब्सक्राइब नहीं किया है तो अभी बेल आइकॉन को प्रेस करिये.
दरअसल , हमारी country इंडिया में एक ऐसा मंदिर है जहाँ पर भक्तों को प्रसाद में चॉकलेट्स दिए जाते हैं. ये मंदिर है ‘थेक्कन पलानी’ बालसुब्रमण्यम मंदिर [Balsubramanium Temple] जो की केरल के अलप्पी शहर में स्थित है , जिसे भारत का वेनिस भी कहा जाता है.  इस मंदिर भक्त भगवान मुर्गन (यानि भगवान कार्तिकेय) की सेवा में चॉकलेट्स चढ़ाते हैं. जिन्हें सब प्यार से मंच मुर्गन भी बुलाते हैं.

अब जानते हैं की चॉकलेट वाला मंदिर का ट्रेडिशन कब और क्यों शुरू हुआ.

बता दें की इस मंदिर में भगवान के बालरूप की प्रतिमा होने के कारण चॉकलेट चढाने की परंपरा की शुरुआत हुई. आपको बता दें की इस ट्रेडिशन को स्टार्ट करने का कारण बच्चों को माना जाता है. ऐसा माना जाता है की सबसे पहले कुछ बच्चों ने बाल मुरगन को चॉकलेट चढ़ाया था जिसके बाद से इस परंपरा की शुरुआत हुई थी , और तब से लेकर आज तक इस मंदिर में आने वाले हर भक्त भगवान के बाल रूप को चॉकलेट्स चढाने लगे.
धर्मग्रंथों के अनुसार मुरगन को सुब्रमण्यम और कार्तिकेय के नाम से भी जाना जाता है , जो भगवान शिव और माता पार्वती के पुत्र हैं. वैसे तो लोग अपनी अपनी श्रद्धा के अनुसार ही यहाँ चॉकलेट चढ़ाते हैं , लेकिन बहुत से ऐसे श्रद्धालु आते हैं जो डिब्बे भर-भर के चॉकलेट्स चढ़ाते हैं.
Wriiten by : Shrishti Pandey

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें