डिजिटल मार्केट को टक्कर देगा देसी ऐप : “Bharat e Market”

0
89
डिजिटल मार्केट को टक्कर देगा देसी ऐप :
डिजिटल मार्केट को टक्कर देगा देसी ऐप : "Bharat e Market"

डिजिटल मार्केट को टक्कर देगा देसी ऐप : “Bharat e Market”

Amazon, Flipkart ,Myntra के बाद अब एक और ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल को लॉन्च किया गया है.बता दें,इस नए वेब पोर्टल को करीब 8 करोड़ व्यापारियों के organisation,Confederation of All India Traders (CAIT) ने वेन्डर मोबाइल एप्लीकेशन ‘Bharat e Market’ को दिल्ली में लॉन्च किया है.ऐसा लग रहा है कि,” Bharat e Market”,बाकि शॉपिंग ऐप्स को काफी हद्द टक्कर देगा. जैसा की आप नाम से ही अंदाज़ा लगा सकते है कि ये पोर्टल पूरी तरह से देसी ई-कॉमर्स प्लेटफार्म है.

Vocal for Local विजन पर बेस्ड

आपको बता दें,CAIT ने इस प्लेटफॉर्म के मोबाइल ऐप को पूरी तरह से भारतीय ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म बताया है.जो की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के Vocal for Local विजन के विजन पर बेस्ड है. CAIT का दावा है कि,दिसंबर 2021 तक इस प्लेटफॉर्म से 7 लाख ट्रेडर्स के जुड़ने की उम्मीद है.वहीं दिसंबर 2023 तक इस प्लेटफॉर्म से 1 करोड़ ट्रेडर्स जुड़ जाएंगे, ऐसा होते ही ये दुनिया का सबसे बड़ा पोर्टल बन जाएगा. यानी Amazon , flipkart, Mynta और अलीबाबा जैसे पोर्टल्स भी पीछे छूट जाएंगे.

‘Bharat e Market’ की खास बातें

CAIT का ‘Bharat e Market’ ऐप भारत ही नहीं दुनिया के भी ई-कॉमर्स पोर्टल से कंपटीशन कर सकेगा.जानते है इस ऐप की कुछ खास बातें :

1. ‘Bharat e Market’पोर्टल पर व्यापारी से व्यापारी (B2B),व्यापारी से उपभोक्ता (B2C) अपना माल बेच और           खरीद सकेंगे.

2. ‘Bharat e Market’ पोर्टल पर ‘ई-दुकान’ खोलने के लिए हर व्यक्ति को मोबाइल ऐप के जरिए ही सबसे पहले          अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा.

3. एक अच्छी बात ये है कि,इसमें दर्ज कोई भी जानकारी विदेश नहीं जाएगी, क्योंकि ये पूरी तरह से घरेलू ऐप है,              इसलिए  सारा डाटा देश में ही रहेगा और इसे बेचा नहीं जाएगा.

4. किसी भी विदेशी फंडिंग को इस प्लेटफॉर्म के लिए स्वीकार नहीं किया जाएगा, यानी किसी तरह की विदेशी फंडिंग        नहीं होगी.

5. कोई भी सैलर चाइनीज़ सामान इस पोर्टल पर नहीं बेचेगा, यानी चाइनीज़ सामान का पूरी तरह से बायकॉट किया          जाएगा ताकि घरेलू कारोबारियों को बढ़ावा मिले.

6. देश के कोने-कोने में फैले स्थानीय कारीगरों,शिल्पकारों और दूसरी चीजों के छोटे निर्माताओं और व्यापारियों को            राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बाजार उपलब्ध कराया जाएगा.

7. व्यापारियों के लिए सबसे अच्छी बात ये है कि,‘Bharat e Market’ पोर्टल पर कारोबार करने पर कोई भी कमीशन      नहीं लिया जाएगा.

CAIT का कहना है कि,‘भारत ई मार्केट’ के साथ वे हर भारतीय के घर तक पहुंचेंगे, साथ ही बहुत कम टाइम में माल की डिलिवरी का लक्ष्य हासिल करेंगे.CAIT ने दावा किया कि ‘‘Bharat e Market’’ पर सबसे सस्ते रेट पर सामान और सेवाएं देगा जो कंज्यूमर के लिए फायदेमंद होगा.

Also read : PM Narendra Modi करेंगे आजादी के अमृत महोत्सव का उद्घाटन,

Amazon और Flipkart से कहीं आगे निकल जाएगा

CAIT का कहना है कि,इस वक्त 40 हजार छोटी-बड़ी एसोसिएशन,उसके 8 करोड़ कारोबारी जुड़े हुए हैं.जबकि करीब 7 करोड़ बिज़नेसमेन के यहां करीब 40 से 45 करोड़ लोग काम करते हैं.कहीं न कहीं 8 करोड़ कारोबारी भी एक-दूसरे के कस्टमर हैं.इस तरह से ये आंकड़ा लगाया जा रहा है कि,ये ‘Bharat e Market’ की कामयाबी का जरिया बनेगा.ऐसा होने पर CAIT का ये प्लेटफॉर्म Amazon,Flipkart से कहीं आगे निकल जाएगा.

CAIT का कहना है कि,‘Bharat e Market’ पोर्टल को बनाने के लिए नई टेक्नोलॉजी,डिलीवरी सिस्टम,सामान का क्वालिटी कंट्रोल, डिजिटल पेमेंट वगैरह से लैस है.फिलहाल ये पोर्टल,वेब और Android में ऐप पर ही उपलब्ध है,जिसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है.iOS पर भी इसे जल्द ही लॉन्च किया जाएगा.

Written by : Chetna Mishra

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें