एनवी रमना होंगे देश के अगले चीफ जस्टिस

0
23
एनवी रमना होंगे देश के अगले Chief Justice
एनवी रमना होंगे देश के अगले Chief Justice

NV Ramana will be the next Chief Justice of the country

चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया (CJI) एसए बोबडे [SA Bobde] ने सरकार को पत्र लिखकर जस्टिस एनवी रमना [NV Ramana] के नाम की सिफारिश की. जस्टिस रमना 24 अप्रैल से चीफ जस्टिस का पद संभालेंगे.

 

बता दें की (CJI) एसए बोबडे [SA Bobde] 23 अप्रैल को रिटायर हो रहे हैं और 24 अप्रैल को न्यायमूर्ति एनवी रमन्ना [NV Ramana] अगले सीजेआई के तौर पर शपथ लेंगे. न्यायमूर्ति नाथुलापति वेंकट रमन्ना को साल 2014 में सुप्रीम कोर्ट का जज नियुक्त किया गया था. हालांकि उनके कार्यकाल में दो साल से भी कम का वक्त बचा है क्योंकि जस्टिस रमन्ना 26 अगस्त 2022 को रिटायर होने वाले हैं.

Also Read;

Reliance Jio यूजर्स को बेस्ट बेनिफिट, 10GB तक एक्स्ट्रा डेटा ऑफर

Also Read:

अक्षय कुमार के बाद अब भूमि पेडणेकर हुईं Corona पॉजिटिव

कौन हैं न्यायमूर्ति एनवी रमन्ना ?

एनवी रमन्ना का जन्म 27 अगस्त 1957 को आंध्र प्रदेश के कृष्ण जिले के पोन्नवरम गांव में एक कृषि परिवार में हुआ था। न्यायमूर्ति रमन्ना ने दस फरवरी 1983 में वकालत शुरू कर दी थी. न्यायमूर्ति एनवी रमन्ना किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं और उन्होंने विज्ञान और वकालत में स्नातक किया है. 27 जून 2000 को जस्टिस रमन्ना आंध प्रदेश हाईकोर्ट के स्थायी जज के तौर पर नियुक्त हुए.

Also Read:

गर्मी के मौसम में ऐसे रखें अपनी सेहत का ख्याल

Also Read:

Delhi : दिल्ली में आज से लगा नाईट कर्फ्यू

साल 2013 में दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश बने

इसके बाद न्यायमूर्ति एनवी रमन्ना साल 2013 में 13 मार्च से लेकर 20 मई तक आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के एक्टिंग चीफ जस्टिस रहे. इसके बाद दो सितंबर 2013 को न्यायमूर्ति रमन्ना का प्रमोशन हुआ और इसके बाद वो दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किए गए.

2014 में सुप्रीम कोर्ट के जज बने

इसके बाद 17 फरवरी 2014 को न्यायमूर्ति एनवी रमन्ना सुप्रीम कोर्ट के जज बने. फिलहाल न्यायमू्र्ति एनवी रमन्ना सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ जजों की List में आते हैं और सीजेआई (CJI) एसए बोबडे के बाद दूसरे नंबर पर आते हैं. पिछले कुछ सालों में न्यायमूर्ति का सबसे चर्चित फैसला जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट की बहाली का था.

जस्टिस एनवी रमन्ना पिछले साल जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट की बहाली का फैसला दे कर चर्चा में आए थे. उसके अलावा CJI दफ्तर को RTI के तहत लाने का फैसला देने वाली बेंच के भी वे सदस्य रह चुके हैं.

Also Read:

Abhishek Banerjee: बीजेपी से पैसे लो, वोट तृणमूल को दो

Also Read:

पश्चिम बंगाल में तीसरे चरण का मतदान आज , पीएम करेंगे चुनावी रैली को संबोधित

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें