Reserve Bank of India ने एक और को-ऑपरेटिव बैंक पर लगाया प्रतिबन्ध

0
92
Reserve Bank of India ने एक और को-ऑपरेटिव बैंक पर लगाया प्रतिबन्ध
Reserve Bank of India ने एक और को-ऑपरेटिव बैंक पर लगाया प्रतिबन्ध

Reserve Bank of India

Reserve Bank of India ने एक और को-ऑपरेटिव बैंक पर प्रतिबंध लगा दिया है. बता दें कि RBI ने गुना के Garha Co-operative Bank Ltd पर 24 फरवरी के कामकाज बंद होने के बाद प्रतिबंधों को लागू करने का आदेश दिया है. RBI के आदेश के मुताबिक बैंक का प्रबंधन रिजर्व बैंक की लिखित मंजूरी के बिना किसी भी तरह की ग्रांट नहीं दे सकता साथ ही कोई नया लोन जारी नहीं कर सकता और न ही लोन को रिन्यू कर सकता है.

बता दें कि Garha Co-operative Bank का प्रबंधन कोई नया निवेश नहीं कर सकता और किसी भी तरह के डिपॉजिट्स लेने पर भी रोक लगा दी गई है.बैंक प्रबंधन रिजर्व बैंक के आदेश तक ना तो किसी संपत्ति को बेच सकता है और ना ही ट्रांसफर कर सकता है. बैंक पर ये प्रतिबंध 24 फरवरी 2021 के बाद से शुरुआती 6 महीने तक लागू रहेंगे, जिनकी समीक्षा भी की जाएगी.

Also Read:

South Korea में है 4000 से ज्यादा आइलैंड

खातों से 50,000 रुपये से ज्यादा नहीं निकाला जा सकता

Garha Co-operative Bank की मौजूदा वित्तीय हालत को देखते हुए रिजर्व बैंक ने जमाकर्ताओं के लिए 50,000 रुपये की निकासी सीमा तय की है. यानी सभी बचत खातों, कंरट खातों या दूसरे किसी भी तरह के खातों से 50,000 रुपये से ज्यादा नहीं निकाला जा सकता है. हालांकि रिजर्व बैंक ने भरोसा दिया है कि बैंक के 99.40 परसेंट डिपॉजिटर्स का पैसा पूरी तरह DICGC इंश्योरेंस स्कीम के तहत सुरक्षित है.

RBI ने लोगों को ना घबराने की सलाह दी है। आरबीआई के अनुसार बैंक पर प्रतिबंध सिर्फ जांच के उद्देश्य से लगाया गया है. बैंक का लाइसेंस रद्द नहीं किया गया है. इसलिए ग्राहक निश्चिंत रहें , उनका पैसा पूरी तरह से बैंक में सुरक्षित है. बैंक इन प्रतिबंधों के साथ भी कामकाज करता रहेगा, जबतक इसकी वित्तीय स्थिति सुधर नहीं जाती. रिजर्व बैंक वक्त आने पर इन प्रतिबंधों में बदलाव करेगा.

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें