IPS अमिताभ ठाकुर समेत तीन ऑफिसर्स को दिया गया VRS

0
28
IPS अमिताभ ठाकुर समेत तीन ऑफिसर्स को दिया गया VRS
IPS अमिताभ ठाकुर समेत तीन ऑफिसर्स को दिया गया VRS

IPS अमिताभ ठाकुर समेत तीन ऑफिसर्स को दिया गया VRS

UP के चर्चित IPS अमिताभ ठाकुर सहित तीन IPS ऑफिसर्स को समय से पहले रिटायर कर दिया गया है.होम मिनिस्ट्री ने तीनो ऑफिसर्स को जनहित में सेवा के लिए फिट ना पाए जाने की वजह से यह फ़ैसला लिया.बता दें,गृह मंत्रालय के आदेश के बारे में जानकारी देते हुए अमिताभ ठाकुर ने ट्वीट कर लिखा कि,सेवा में बनाए रखे जाने के उपयुक्त न पाते हुए लोकहित में तात्कालिक प्रभाव से सेवा पूर्ण होने से पूर्व सेवानिवृत किये जाने का निर्णय लिया गया है.

order

 

बता दें,अमिताभ ठाकुर (आईजी रूल्स एवं मैनुअल)पर तमाम मामलों में इन्वेस्टीगेशन पैंडिंग हैं.वहीं,राजेश कृष्ण (कमांडैंट 10th बटालियन, बाराबंकी) पर आजमगढ़ में पुलिस भर्ती में घोटाले का आरोप रहा है.इनके अलावा राकेश शंकर (डीआईजी इस्टैब्लिशमेंट) पर देवरिया शेल्टर होम प्रकरण में उन पर डाउटफुल रोल निभाने का आरोप लगाया गया था.साथ ही तीनों आईपीएस पर serious irregularity के भी आरोप लगाए गए थे.वहीं होम मिनिस्ट्री की स्क्रीनिंग के बाद 17 मार्च 2021 को आदेश जारी क‍िया गया क‍ि अमिताभ ठाकुर लोकहित में सेवा में बनाए रखे जाने के उपयुक्त नहीं हैं.स्टेट के होम डिपार्टमेंट की तरफ से तीनों IPS (अमिताभ ठाकुर,राजेश कृष्ण और राकेश शंकर) को VRS (Voluntary Retirement Scheme) देने का आदेश जारी हो गया है.

Also read : Abhishek Bachchan को उनकी बीवी को ले के किया गया ट्रोल

VRS जारी किया

वहीं यूपी के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (होम) अवनीश कुमार अवस्थी द्वारा जारी आदेश के मुताबिक,होम मिनिस्ट्री,इंडियन गवर्नमेंट,न्यू-डेली के 17 मार्च 2021 के आदेश द्वारा अमिताभ ठाकुर,IPS, आरआर-1992 को लोकहित में सेवा में बनाए रखे जाने के उपयुक्त न पाते हुए अखिल भारतीय सेवाएं (डीसीआरबी) नियमावली-1958 के नियम-16 के उपनियम 3 के अंतर्गत लोकहित में तत्काल प्रभाव से सेवा पूर्ण होने से पहले सेवानिवृत्त किए जाने का निर्णय लिया गया है.

इस आदेश में एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (होम) ने आगे लिखा है कि,”गृह मंत्रालय के आदेश के ऑर्डर में राज्यपाल नियमानुसार अमिताभ ठाकुर को लोकह‍ित में तत्काल प्रभाव से सेवा पूर्ण होने से पूर्व सेवानिवृत्त करने और उनको तीन महीने के उनके वेतन और भत्तों के बराबर की धनराशि,जो उनकी सेवानिवृत्ति के ठीक पहले उनके द्वारा अहरित की जा रही धनराशि के समान दर पर आगणित कर दिए जाने के निर्देश देते हैं.

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें